बुराड़ी में एक घर में 11 लाशें : एक चमत्कार ने बना दिया पुरे परिवार को अन्धविश्वासी और हो गया इतना बड़ा हादसा

Biggest News, Breaking News, DELHI

नई दिल्ली : बुराड़ी काण्ड में हर पल नया मोड़ आ रहा है |घर से मिले दो डायरी तो राज खोल ही रहें हैं लेकिन उनके घर के नजदीक के सदस्य भी कुछ बड़े पोल खोल रहें हैं |

रिश्तेदारों का कहना है कि भाटिया परिवार दस साल पहले हुए एक हादसे और ‘चमत्कार’ की वजह से और ज्यादा आस्थावान हो गया था। भाटिया परिवार के ललित भाटिया दस साल पहले एक हादसे का शिकार हो गए थे। परिवार के करीबी दोस्त हेमंत शर्मा के मुताबिक ललित प्लाइवुड का बिजनेस करते थे और उन पर लकड़ियों का गट्ठर गिर गया था। शर्मा ने बताया, ‘इसकी हादसे में ललित की आवाज चली गई थई। परिवार ने हर तरीके से उनका इलाज करवाया, लेकिन किसी भी तरह का इलाज काम नहीं आया तो उन्होंने ज्यादा पूजा-पाठ करना शुरु कर दिया। जब ललित की आवाज वापस आ गई तो परिवार पूरा आध्यात्मिक हो गया।’ एक अन्य ने बताया कि ‘रोजाना उनके परिवार में से कोई एक प्लाइवुड पर धार्मिक उद्धरण लिखता था और उसे दुकान के बाहर टांग देता था।’ अंदेशा ये लगाया जा रहा है कि भाटिया परिवार ने इस हादसे और ‘चमत्कार’ की वजह से ‘अंधविश्वास’ की राह पकड़ ली थी। 

मामले की जांच कर रहे एडिशनल डीसीपी विनीत कुमार के मुताबिक, घर की तलाशी के दौरान एक डायरी में कुछ हस्तलिखित नोट्स मिले हैं, जिससे ऐसा प्रतीत होता है कि पूरा परिवार कोई विशेष आध्यात्मिक, धार्मिक प्रयास के आधार पर भगवान के दर्शन करने का अभ्यास कर रहा था। खास बात यह है कि जो कुछ भी इस डायरी के नोट्स में लिखा है, कमोबेश उसी तरीके से भाटिया परिवार के सभी सदस्यों के मुंह व आंखों पर पट्टी बंधी थी और उन पर टेप चिपका हुआ था। पुलिस इसी पहलू को ध्यान में रखते हुए मौत की असली वजहों का पता लगाने में जुटी है।



Leave a Reply