अनोखी होगी सुशील मोदी के बेटे की शादी, न बैंड न बारात, गेस्ट खाएंगे प्रसाद .

Biggest News, BIHAR, Breaking News, Politics

शराबबंदी कानून के बाद सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने अब दहेज और बाल विवाह के खिलाफ जो मुहिम छेड़ी है, उसका असर दिखने लगा है. सीएम के इस अभियान के बाद प्रदेश में कई ऐसे उदाहरण देखने को मिले जब लोगों ने दहेज लेने से मना कर दिया. बिना कुछ लिए ही बिटिया को घर लाया. एक पल तो ऐसा आया जब एक परिवार को सम्मानित भी किया गया. सीएम ने खुद बधाई दी. अब सीएम नीतीश के इस मूवमेंट की एक और मिसाल दिखने वाला है दुनिया को.

सीएम नीतीश की पहल पर खुद डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी दहेज लेने से मना कर दिया है. दरअसल 3 दिसंबर को सुशील मोदी के बड़े बेटे उत्कर्ष की शादी है. सारी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं. इंविटेशन भी दे दिए गए हैं. लेकिन शादी के जो कार्ड भेजे गए हैं, उनमें भी डिजिटल इंडिया की झलक दिख रही है. जितने भी कार्ड भेजे गए हैं वो व्हाट्सएप और ई-मेल के थ्रू भेजे गए हैं. यहां तक कि पीएम नरेंद्र मोदी को भी कोई प्रिंटेड कार्ड नहीं भेजा गया है. उनको भी ई-इंविटेशन ही भेजा गया है.

बता दें कि सुशील मोदी के बड़े बेटे उत्कर्ष जो कि बैंगलोरु में एक मल्टी नेशनल कंपनी में काम करते हैं उनकी शादी कोलकाता की एक चार्टर्ड अकाउंटेंट से तय हुई है. दोनों की शादी आने वाले तीन दिसंबर को पटना में है. शादी की खास बात यह है कि इसमें आपको सादगी देखने को मिलेगी. सुशील मोदी के बेटे की शादी में न तो बैंड-बाजा होगा. न ही कोई बारात. बहुत ही सिंपल तरीके से शादी की जाएगी.

वहीं इस मुद्दे पर बात करते हुए सुशील मोदी ने मीडिया को बताया कि मेरी शादी भी काफी सादगी के साथ हुई थी, और मेरे बेटे की भी होगी. उन्होंने कहा कि शादी में कोई नाच गाना नहीं होगा. बारातियों का स्वागत समारोह भी नहीं होगा. उन्होंने आगे कहा कि बिहार सरकार ने दहेज और बाल विवाह के खिलाफ मुहिम छेड़ी है. हम सब इसके साथ हैं.

Leave a Reply