बेगूसराय प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा जुबली सम्मान समारोह का आयोजन

Begusarai, Biggest News, BIHAR

बेगूसराय :रविवार दिनांक 15-10-2017  को बेगूसराय के टाउन हॉल में बेगूसराय प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन द्वारा विद्यालय जुबली सम्मान समारोह का आयोजन किया गया जिसमें प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन के राष्ट्राध्यक्ष सैय्यद श्यामल अहमद मुख्य अतिथि के रूप में एवं बिहार  सरकार  के समाज कल्याण मंत्री श्रीमति मंजू वर्मा ,बिहार विधान परिषद् के मेम्बर रजनीश कुमार ,डॉक्टर सुरेश रॉय ,जदयू जिला अध्यक्ष  महिपाल राय, समाजसेवी दिलीप कुमार सिन्हा आदि गणमान्य लोगों की उपस्थिति थी | सभी अतिथियों को चादर ,पाग ,माला पहनाकर स्वागत किया गया |

सभी अतिथियों ने प्राइवेट स्कूल के सभी प्राचार्य एवं शिक्षकों को संबोधित  किया |मुख्य अतिथि सैय्यद श्यामल अहमद ने  प्राइवेट स्कूल के शिक्षा का महत्व बताया एवं उन्होंने  सरकार  पर निशाना साधते हुए कहा कि अगर सरकार प्राइवेट स्कूल के खिलाफ कोई मनमानी करती है तो पूरे राष्ट्र के प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन एक होकर इसका  विरोध करेंगे साथ ही साथ उन्होंने ने कहा की वे सरकार के सारे उचित नियमों का पुरे प्रतिबध्धता के साथ पालन करेंगे |मंजू वर्मा ने सरकारी स्कूल के दुर्दशा पर अपनी बात रखी |उन्होंने कहा कि आज सरकार के फण्ड का सरकारी स्कूल में सही ढंग से प्रयोग नहीं किया जा रहा है जिसके वजह से पेरेंट्स का सरकारी स्कूल पर से भरोसा उठ रहा है और वे प्राइवेट स्कूल में अपने बच्चों का नामांकन करवा रहे हैं और उन्होंने कहा की प्राइवेट स्कूल के शिक्षा का गुणवत्ता काफी उच्च स्तर का है |

विधान पार्षद रजनीश कुमार ने प्राइवेट स्कूल में पढाई को ऐतिहासिक बताया उन्होंने कहा की प्राइवेट स्कूल में पढाई का प्रचलन हजारों वर्ष पूर्व से है |उन्होंने विश्वामित्र और गुरु द्रोणाचार्य के शिक्षा देने की कला को प्राइवेट स्कूल से जोड़कर प्राइवेट स्कूल के महत्व को बताया |

बेगूसराय पब्लिक स्कुल  एसोसिएशन के अध्यक्ष राजेश कुमार ने सरकार को चैलेंज करते हुए कहा कि सरकार का प्राइवेट स्कूल के तरफ सख्त रवैया को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा ,प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन में इतनी ताकत है कि सरकार को गिरा और बना दोनों सकती है |सरकार  प्राइवेट स्कूल को 25 प्रतिशत गरीब बच्चों को मुफ्त पढ़ाने के एवज में स्कूल को लगभाग 4300 प्रति छात्र प्रतिवर्ष  देने के अपने वादे से मुकर रही है| फिर भी प्राइवेट स्कूल गरीब बच्चों को मुफ्त शिक्षा देने को प्रतिबद्ध है |

 

 

Leave a Reply