मौत की ट्रेन : अमृतसर हादसे में बड़ा खुलासा ,जानिए 100 लोगों को कैसे काट दिया ट्रेन ने

Biggest News, Breaking News, NATION, Uncategorized

अमृतसर : पंजाब के अमृतसर में बड़ा रेल हादसा हुआ है. पठानकोट से अमृतसर की तरफ आ रही ट्रेन दुर्घटना का शिकार हो गई. बताया जा रहा है कि यह हादसा चौड़ा बाजार के समीप हुआ है. यह हादसा उस समय हुआ, जब रेल ट्रैक पर रावण का पुतला जलाया जा रहा था जिसे देखने के लिए ट्रैक पर लोग खड़े थे.

इस हादसे में 100 से ज्यादा लोगों के मरने की आशंका है. चश्मदीदों के मुताबिक ये बहुत दर्दनाक हादसा है. इसमें मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है. हादसे का अंदाजा आप इस बात से लगा सकते हैं कि लोग कह रहे हैं कि वे ऐसा मंजर अमृतसर में आज तक नहीं देखे थे. चश्मदीदों के मुताबिक शवों की स्थिति बहुत खराब है. किसी का हाथ गायब है तो किसी का सिर. उनके मुताबिक लाशों को देखने की हिम्मत तक नहीं है.

पहला खुलासा ये कि नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी मौजूद थी क्योकि वो रावण दहन करने आई थी और बिना रावण दहन किए नहीं गयी होगी जबकि उनकी पत्नी का दावा है कि वो पहले निकल चुकी थी |

प्रशासन की पहली लापरवाही ये थी कि आयोजन के लिए कोई इजाजत नहीं दी गई थी। वहीं दूसरी सबसे बड़ी चूक मैदान में लगी एलईडी लाइटें को रेलवे ट्रैक की ओर लगा दिया गया था। जिस वजह से लोग रेल ट्रैक नहीं देख पाए। वहीं तीसरी सबसे बड़ी चूक पटाखों की आवाज को माना जा रहा।
पटाखों का शोर इतना था कि लोगों को ट्रेन की आवाज नहीं सुनाई दी और ये बड़ा हादसा हो गया। हादसे के बाद रेलवे प्रशासन के तमाम आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए। वहीं राहत एंव बचाव कार्य शुरु कर दिया गया। दशहरा का आयोजन करने वाली कमेटी की सबसे बड़ी लापरवाही है। कार्यक्रम में नवजोत कौर सिद्धू मुख्य अतिथि थीं।

हादसे पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने दुख जताया है। उन्होंने कहा, अमृतसर में दुखद रेल दुर्घटना के बारे सुनकर चौंक गया हूं। दुख के इस घड़ी में सभी प्राइवेट और सरकारी अस्पतालों को खुले रहने के लिए कहा गया है। जिला अधिकारियों को युद्ध स्तर पर राहत और बचाव कार्य शुरु करने का निर्देश दिया गया।


एक और चश्मदीद के मुताबिक ट्रेन तेज गति से आ रही थी और जब दशहरा मनाया जा रहा था तभी कई लोगों के ऊपर ट्रेन चढ़ गई. ये हादसा चौड़ा बाजार के पास हुआ है. रावण दहन के दौरान ही ट्रेन कई लोगों के ऊपर चढ़ गई. चश्मदीदों के मुतबाकि यह बेहद दर्दनाक हादसा है. इसमें कई लोगों की मौत हो सकती है.

एक चश्मदीद के मुताबिक प्रशासन और दशहरा कमेटी इसके लिए जिम्मेदार हैं. ट्रेन के आने के पहले अलार्म बजाना चाहिए था. पुलिस के मुताबिक इसमें 50 से ज्यादा लोगों की मौत की आशंका है.