राजभवन का समृद्ध इतिहास समेटे है बुक ‘द फर्स्ट एड्रेस’, बिहार के राज्यपाल ने दिल्ली में किया विमोचन

BIHAR, Breaking News, DELHI

नई दिल्ली: बिहार के राज्यपाल सत्य पाल मलिक ने कहा है कि बिहार का इतिहास भारत के स्वर्णिम अवधि का इतिहास है। यह प्रबोधन एवं ज्ञानोदय की धरती है। वे आज बिहार निवास, चाणक्यपुरी, नई दिल्ली में बिहार के राज भवन के बारे में प्रथम कॉफी टेबल पुस्तक “द फर्स्ट एड्रेस” के विमोचन के पश्चात उपस्थित व्यक्तियों को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि बिहार ने दुनिया को धर्म, संस्कृति एवं शिक्षा के मामले में सही रास्ता दिखाया है। राज्यपाल ने कहा कि इस कॉफी टेबल बुक के प्रकाशन के प्रक्रिया की शुरूआत उस समय हुई थी जब राष्ट्रपति बिहार के राज्यपाल थे। उन्होंने कहा कि विमोचन के पश्चात इस पुस्तक की प्रथम प्रति महामहिम राष्ट्रपति को समर्पित की जाएगी।

राज्यपाल ने कहा कि बिहार राज्य की ही तरह बिहार का राज भवन भी इतिहास, संस्कृति एवं विरासत की अमूल्य परंपरा को धारण किये हुए है। सन 1911 में दिल्ली दरबार में किंग जॉर्ज पंचम की अहम घोषणा के क्रम में पटना में राज भवन का निर्माण किया गया। इसी के आलोक में देश की राजधानी का दिल्ली में स्थानांतरण एवं बिहार तथा उडीसा का वृहत बंगाल से पृथक्कीकरण किया गया । उस समय के वायसराय लॉर्ड हार्डिंग ने सन 1913 में राज भवन का शिलान्यास किया एवं सन 1916 तक भवन का निर्माण पूरा हो गया। महामहिम राज्यपाल ने कहा कि इस प्रकार बिहार राज्य ने सन 2012 में अपनी स्थापना का 100वाँ साल मनाया। साथ ही चार साल बाद बिहार राज भवन ने भी अपनी स्थापना का सौ साल पूरा कर लिया।

राज्यपाल ने कहा कि इस पुस्तक के माध्यम से राज भवन की अमूल्य विरासत, समृद्ध इतिहास एवं प्रगतिशील वर्तमान दुनिया के सामने लाया जा रहा है। स्थापत्य कला, चित्रकला, मूर्तिकला, डिजायन एवं अन्य पुरातन महत्व के विवरणों के साथ साथ नवाचार एवं अन्य गतिविधियों की भी जानकारी इससे प्राप्त हो सकती है। महामहिम राज्यपाल ने इस पुस्तक के प्रकाशन के लिए प्रकाशन मंडल के सदस्यों के साथ साथ सभी संबद्ध व्यक्तियों को धन्यवाद दिया।
कार्यक्रम के प्रारम्भ में महामहिम राज्यपाल के प्रधान सचिव  विवेक कुमार सिंह ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने कहा कि महामहिम राज्यपाल विद्वान व्यक्ति हैं। उन्होंने राज भवन को लोकोन्मुखी बनाने का अथक प्रयास किया है। वे बिहार के सभी क्षेत्रों में विकास के लिए प्रतिबद्ध हैं। प्रधान सचिव सिंह ने कहा कि इस प्रथम कॉफी टेबल बुक का अन्तर्राष्ट्रीय महत्व है। इसलिए इसका विमोचन कार्यक्रम दिल्ली में आयोजित किया गया है। उन्होंने कहा कि पुस्तक की गुणवत्ता उत्कृष्ट है।

यह पुस्तक गणतंत्र के इस महत्वपूर्ण क्षेत्र में उत्सुक पाठकों एवं शोधार्थियों के लिए अत्यंत सहायक होगा।बिहार निवास के मुख्य प्रशासी पदाधिकारी  शैलेंद्र कुमार ने कार्यक्रम का संचालन किया। नई दिल्ली स्थित बिहार सूचना केन्द्र के सहायक निदेशक लोकेश कुमार झा ने धन्यवाद ज्ञापन प्रस्तुत किया। इस कार्यक्रम में महामहिम राज्यपाल के परिसहाय मेजर हिमांशु तिवारी, राज भवन के विशेष कार्य पदाधिकारी संजय कुमार एवं महामहिम राज्यपाल के आप्त सचिव वीरेंद्र राणा भी उपस्थित थे।

हमारे चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए यहाँ क्लिक करें

https://www.youtube.com/channel/UC-ybr7bWWieu4Mvsmc3OBAg

Leave a Reply