बुराड़ी कांड: सामने आया ‘मौत के रजिस्टर’ का पहला पन्ना

Biggest News, Breaking News, DELHI

नई दिल्ली : बुराड़ी में एक ही घर में 11 लोगों की मौत की जांच में पुलिस अभी भी जुटी हुई है. पुलिस ललित भाटिया के जिंदगी के पन्ने खंगाल रही है. पुलिस को पता चला है कि ललित की 10 साल पहले आवाज चली गई थी. लूट के इरादे से बदमाशों ने उनकी गर्दन दबा दी थी, जिससे ऐसा हुआ. इसके बाद उनका इलाज चला.

बुराड़ी में एक ही घर में 11 लोगों की मौत की जांच में पुलिस अभी भी जुटी हुई है. पुलिस ललित भाटिया के जिंदगी के पन्ने खंगाल रही है. पुलिस को पता चला है कि ललित की 10 साल पहले आवाज चली गई थी. लूट के इरादे से बदमाशों ने उनकी गर्दन दबा दी थी, जिससे ऐसा हुआ. इसके बाद उनका इलाज चला.

बताया जा रहा है कि इलाज करवाते समय ललित का रुझान पूजा पाठ की ओर बढ़ गया. ललित का बोलना लगभग 6 माह बिल्कुल बंद था. इसी बीच उनके पिता गोपाल दास की मौत हो गई. उनकी मौत के बाद अचानक ललित की आवाज आ गई, लेकिन वह खुद की नहीं बल्कि पिता की टोन में बात करने लगा.

ललित की आवाज का वापस लौटना भाटिया परिवार के लिए किसी चमत्कार से कम नहीं था. इसके बाद ललित की धार्मिक आस्था बढ़ गई और वह ज्यादा पूजा-पाठ करने लगा.


Leave a Reply