बिहार कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष अशोक चौधरी हो गए हैं बागी ,बोले जहाँ सम्मान मिलेगा वहीँ जाएंगे

Biggest News, BIHAR, Breaking News

पटना  : जब से बिहार में महागठबंधन टूटा है तब से बिहार की राजनीति में सब कुछ सही नहीं चल रहा है |कभी राजद से नेताओं के टूटने की खबर आती है तो कभी कांग्रेस से |लेकिन इस बार कांग्रेस के लिए बड़ा झटका  माना जा रहा है |कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष का कहना है कि ,देखिए पद तो आता जाता रहता है। पद महत्वपूर्ण नहीं। आपने जिस सिद्धांत, विचार के साथ राजनीति को चुना है, आपने उसे प्राप्त करने के लिए कोई न कोई लक्ष्य चुना होगा। मैंने भी एक लक्ष्य बनाया था और उसे ही प्राप्त करने में जुटा हुआ हूं। आप किस प्रकार राजनीति में एक पहचान कायम कर सकते हैं, किस प्रकार युवाओं के लिए

प्रेरणा स्रोत हो सकते हैं यही तमाम लक्ष्य हैं, जिनके लिए मैं लगातार काम करता रहता हैं।

पद महत्वपूर्ण नहीं होता है। मेरी कोशिश है, नए लोग युवा राजनीति में आए और समाज के लिए सार्थक काम करें। जब तक पढ़े लिखे लोग राजनीति में नहीं आएंगे तब तक जातपात ऊंच-नीच को लेकर जो कुंठा है, वह समाप्त नहीं होगी। मैं उसी पर काम कर रहा हूं ताकि पढ़े लोग राजनीति में आए।

उन्होंने सीपी जोशी पर आरोप मढ़ते हुए कहा कि  उन्होंने सारी साजिश रची और उसका शिकार मुझे बनाया गया। मैंने तो पार्टी को मजबूती दी, उसका जनाधार बढ़ाया। अपने चहेते को बिहार की गद्दी पर बिठाने के लिए उन्होंने मेरे खिलाफ षड्यंत्र किया। पार्टी ने भी उनकी बातों पर विश्वास कर लिया और मुझे अपमानित करके पद से हटाया गया। मैं तो पद छोडऩे को तैयार बैठा था तो फिर मुझे अपमानित करने का क्या औचित्य हो सकता है।

Leave a Reply