बक्सर ओएसडी की आत्महत्या पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे और राधामोहन सिंह ने जताया शोक, रद्द हुआ शिलान्यास कार्यक्रम

Biggest News, BIHAR, Breaking News, MY BLOG, Uncategorized

बक्सर में डीएम मुकेश पांडेय के बाद वर्तमान डीएम अरविन्द शर्मा के ओएसडी तौकीर अकरम की आत्महत्या से एक बार फिर पूरा शहर सन्न है. पूरे बक्सर में फिर से शोक व्याप्त है. ओएसडी की आत्महत्या के बाद बक्सर में बनने वाले बिहार के पहले गोकुल ग्राम का शिलान्यास भी रद्द कर दिया गया है.
बता दें कि गोकुल ग्राम का शिलान्यास केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह करने वाले थे. उनके साथ ही केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और बक्सर सांसद अश्विनी चौबे भी आने वाले थे. लेकिन एक अधिकारी की आत्महत्या के बाद कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है. इस घटना पर अश्विनी चौबे और राधामोहन सिंह ने शोक जताया है.
बता दें कि रविवार के अहले सुबह 4 बज कर 30 मिनट पर ओएसडी तौकीर अकरम ने सुसाइड नोट लिख कर आत्महत्या कर ली थी. उन्होंने खुद को ही इस मौत का जिम्मेदार बताया. लेकिन मामले की तहकीकात के बाद ही सच्चाई सामने आ सकेगी.

आपको जानकारी दे दें कि केंद्र सरकार ने देसी नस्ल की गायों और आवारा पशुओं को खुशहाल जीवन देने के लिए राष्ट्रीय गोकुल मिशन का प्रारुप तैयार किया है. जिसकी नींव अब बक्सर में पड़ने जा रही है. राज्य सरकार ने इसके लिए डुमरांव में हरियाणा फार्म को चुना है. हरियाणा फार्म की बेकार पड़ी 84 एकड़ जमीन पर यह गांव बसेगा.

राष्ट्रीय गोकुल मिशन के तहत पशुपालन के लिए केंद्र सरकार सहायता प्रदान करेगी. जिसके लिए बक्सर में राष्ट्रीय गोकुल मिशन का रोड मैप तैयार हो चुका है. 19 नवंबर को इसका शिलान्यास केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह द्वारा किया जाना था.
बक्सर में पशुओं की लुप्त होती प्रजाति को देखते हुए सरकार ने इसे गोकुल ग्राम बनाने का फैसला किया है. बता दें कि बिहार का पहला गोकुल ग्राम बक्सर के डुमरांव में बनेगा। माना जा रहा है कि गोकुल ग्राम बनने के बाद बक्सर के लोगों को बड़े पैमाने पर रोजगार भी मिलेंगे.

Leave a Reply