इस बड़ी वजह से कोर्ट में चिल्ला उठे लालू प्रसाद यादव, कहा- हमको बचाइए हो

Biggest News, BIHAR, Breaking News

न्यूज़ डेस्क : चारा घोटाला मामले में सजा सुनाए जाने को लेकर कोर्ट परिसर की सुरक्षा व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त थी। लालू जैसे ही सोमवार दोपहर कोर्ट पहुंचे, पुलिसकर्मी सक्रिय हो गए। गहमागहमी शुरू हो गई। पुलिसकर्मियों ने लालू को वाहन की घेराबंदी कर उतारा। इसके बाद घेरते हुए कोर्ट रूम तक ले गए। कोर्टरूम तक ले जाए जाने के दौरान खूब अफरातफरी मची। पुलिसकर्मी, मीडियाकर्मी और समर्थकों के हुजूम में लालू दबने लगे। अंत में लालू चिल्ला उठे, हमरा बचावा हो। पुलिसकर्मियों ने किसी तरह उन्हें कोर्ट रूम तक पहुंचाया। इस दौरान मीडियाकर्मियों और पुलिसकर्मियों के बीच धक्कामुक्की हुई।

चारा घोटाले के एक और मामले में सोमवार को फैसला आया। सीबीआइ के विशेष न्यायाधीश शिवपाल सिंह की अदालत ने दुमका कोषागार से 3.76 करोड़ रुपये की अवैध निकासी से संबंधित चारा घोटाला मामले में फैसला सुनाया। अदालत ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री सह तत्कालीन वित्त मंत्री व राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद सहित 19 अभियुक्तों को दोषी ठहराया। वहीं बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. जगन्नाथ मिश्र सहित 12 अभियुक्तों को बरी कर दिया। चारा घोटाले में लालू चौथी बार दोषी ठहराए गए हैं। फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में रांची स्थित राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) में इलाजरत हैं। इस मामले में राजनेताओं में सिर्फ लालू प्रसाद दोषी ठहराए गए। इसके अलावा दोषी ठहराए जाने वालों में पशुपालन विभाग के अधिकारी और आपूर्तिकर्ता शामिल हैं। बरी होने वाले राजनेताओं में डॉ. जगन्नाथ मिश्र, धु्रव भगत, जगदीश शर्मा, विद्यासागर निषाद व डॉ. आरके राणा शामिल हैं। अदालत ने ट्रायल फेस कर रहे 31 अभियुक्तों पर फैसला सुनाया।


Leave a Reply