अगर प्रवीन तोगड़िया वहां से नहीं भागते तो हो जाता एनकाउंटर !

Biggest News, Breaking News, DELHI

नई दिल्ली : विश्व हिन्दू परिषद् के कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया लापता होने के बाद बेहोशी के हालत में मिले थे लेकिन अब वो प्रेस के सामने आकर रखी है अपनी आपबीती |उभोनें प्रेस को संबोधित करते हुए कहा कि कई माैकों पर उनकी आवाज दबाने की कोशिश की गई। गौरतलब है कि ‘लापता’ होने के करीब 11 घंटे बाद तोगड़िया सोमवार देर रात अहमदाबाद के शाही बाग इलाके में बेहोश हालत में मिले। उन्हें स्थानीय चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया। अब वह सामने आकर अपनी आपबीती बता रहे हैं।

तोगड़िया ने भावुक होते हुए बताया, मैं परसों मुंबई के कार्यक्रम में था। रात में मैं लौटा और पुलिस को कहा कि 2.30 बजे आओ। सुबह मैं पूजा पाठ कर रहा था तभी एक व्यक्ति मेरे कमरे में आया और बोला कि तुरंत कार्यालय छोड़ दो आपका एनकाउंटर करने के लिए लोग निकले हैं। मुझे लगा कि कुछ दुर्घटना हुई तो मुझे जो होगा सो होगा लेकिन पूरे देश में बुरी परिस्थिति खड़ी होगी। मैं बाहर निकला और पुलिस को कहा कि मैं भाग नहीं रहा हूं। मैंने ऑटो रिक्शा लिया और रास्ते में राजस्थान के गृह मंत्री से संपर्क किया। इसके बाद मैंने अपने मोबाइल स्विच ऑफ कर दिए ताकि मेरी स्थिति का पता न चले। मेरी जानकारी में मेरे खिलाफ राजस्थान में कोई केस नहीं था। पता चला कि वे मुझे अरेस्ट करने आए हैं। मुझे कहा गया कि आप कोर्ट के सामने आ जाइये। अगर मैं राजस्थान पुलिस की पकड़ में आता तो मेरे खिलाफ लंबे समय से षड्यंत्र किया जा रहा है।

Leave a Reply