यहाँ देखिए सबसे साफ़ चंद्रग्रहण ,बहुत घातक होगा परिणाम अगर भूलकर भी आपने किया ये दो काम

Biggest News, Breaking News, NATION, RELIGION

LIVE चंद्रग्रहण :चंद्रग्रहण हो गया है शुरू हम आपको दिखलाने जा रहे हैं पूर्ण चंद्रग्रहण |इस ग्रहण को खग्रास चंद्रग्रहण कहा गया है, जिसके तहत चंद्रमा का कुछ हिस्सा छुप जाएगा. ये ग्रहण लगभग 150 साल बाद आया है. वैज्ञानिकों के मुताबिक, चंद्र ग्रहण तब होता है जब धरती और सूरज के बीच में चंद्रमा आ जाता है और पृथ्वी की छाया चंद्रमा पर पड़ती है क्योंकि हम लोग धरती से यह खगोलीय घटना देख रहे होते हैं और धरती की छाया काफी बड़ी होती है लिहाजा चंद्र ग्रहण की खासियत यह होती है कि दुनिया में एक ही समय पर शुरू होता है और एक ही समय पर खत्म होता है वैसे तो चंद्र ग्रहण को लेकर तमाम अंधविश्वास अलग-अलग देशों में प्रचलित हैं लेकिन सही बात यह है कि इस आसमानी घटना का हमारे जीवन पर कोई असर नहीं पड़ता है.

 

आमतौर पर कहा जाता है कि ग्रहण के समय भोजन नहीं करना चाहिए। पुराणों के अनुसार इससे अगले जन्म में व्यक्ति को उदर रोग से परेशानी रहती है। कुछ वैज्ञानिक शोध बताते हैं कि इससे अपच की शिकायत होती है क्योंकि चन्द्र की किरणों से भोजन दूषित हो जाता है।

स्कंदपुराण में कहा गया है कि ग्रहण के समय दूसरों का अन्न खाने से 12 वर्षों का एकत्रित पुण्य नष्ट हो जाता है। जबकि देवीभागवत पुराण में बताया गया है कि ग्रहण के समय खाने से मनुष्य जितने अन्न के दाने खाता है उसे उतने वर्षों तक अरुतुन्द नाम के नरक को भोगना पड़ता है। ऐसे व्यक्ति जब धरती पर जब पैदा होता है तो उसे उदर रोग, गुल्मरोग और दांतों की परेशानी होती है।

Leave a Reply