सालों से नर्क बनी है वार्ड 30 की यह गली, देख कर आंखे फेर चुका है नगर निगम

Begusarai, Biggest News, BIHAR

बेगूसराय : सरकार लाख चाहे स्वच्छता लेकिन धरातल पर जनप्रतिनिधि और पदाधिकारी कसम खाए हैं कि इस महान कार्य को कभी सफल होने नहीं देना है , जिसका जीता जागता उदाहरण है, बेगूसराय जिला अंतर्गत स्टेशन रोड के वार्ड नंबर 30 स्थित होटल एस. कुमार और बी.डी. पब्लिक स्कूल के बीच बनी गली के रोड पर वर्षों से जमा विषैले पानी और उसमें फैले बीमारी फैलाने वाले कीड़े |

सच कहा जाय तो यह कहने में कोई अतिश्योक्ति नहीं कि इसका मुख्य कारण होगा एम्.पी. बीमार एम्.एल.ए. नक्कार और वार्ड पार्षद लाचार| यह सड़क जनवरी 2010 में वार्डपार्षद विजयमनी देवी के सत्र के अंत में बनी थी , जिसे बनाते समय वार्ड पार्षद द्वारा कोई सुध- बुध नहीं ली गई | अब आए युवा वार्डपार्षद वीरचंद राय इन्होंने भी लोलीपॉप  दिखाकर प्रथम सत्र जीत लिया और  यह कह कर पल्ला झाड़ लिया कि एक पंचवर्षीय योजना में एक ही सड़क का दो बार काम नहीं होता है | भोली-भाली जनता सुनकर सत्रांत का इन्तजार किया , आ गया दूसरा सत्र वोट लेने का इसमें इन्होंने यह कह कर वोट मांगा कि अब इसबार यह सड़क बनकर रहेगा इस लोभ में जनता ने इन्हें पुनः जिताया | अब जनता पूछती है कि क्या अब कब बनेगी यह सड़क ? अब अपनी लाचारी नगर निगम पर थोप रहे हैं | इनका कहना है कि नगर निगम दरिद्र है , विभाग में पैसा नहीं है ,हमने लिखकर दे दिया है निगम में पैसा जब आयेगा तब बनेगा |

जनता को ठगने के लिए कभी कभी निगम के किसी कर्मचारी को पकड़ कर एक फीता के साथ रोड की नापी -जोखी कर सांत्वना हेतु ले आते हैं ताकि जनता हल्ला न करे | इस सड़क के नाम पर पूर्व विधायक सुरेन्द्र मेहता भी जमे पानी में फैले कीड़े को देखकर  नगर निगम का बहाना बनाकर पल्ला झाड़ लिया और अपनी लाचारी सत्ता में रहते हुए पंगु जनता के तरह रोना रोकर चले गए थे | जनता तो आशा में जगती है कि अब हमारा सांसद ,विधायक और वार्ड पार्षद बदल गया अब तो काम होगा ही लेकिन जन प्रतिनिधि तो इसे देखना तो दूर सुनना भी पसंद नहीं करते हैं| फिर भी जनता को अच्छा प्रतिनिधि अगर नहीं मिलता तो यह कह कर वोट दाल देते हैं कि पार्टी के नाम पर जो पंगु या मूक खड़ा हुआ उसे वोट डाल दो | तभी तो एक नारा दिया गया गया था कि भाजपा को जिताना जरूरी है भोला सिंह मजबूरी  है | लोगों ने अमिता भूषण को वोट दिया कि ये कर्मठ नेत्री है लेकिन इन्होंने भी जनता को ठेंगा दिखा दी | अंत में लोग नगर निगम के मेयर उपेन्द्र प्रसाद सिंह पर आशा लगाया कि इनके कार्यकाल में इस सड़क का जीर्णोद्धार होगा और हमलोगों को ये जहरीली कीड़े और वर्षों से विषैले पानी से मुक्ति मिल जाएगी , लेकिन ये तो एकबार देखना तो दूर सुनना भी पसंद नहीं करते हैं , लेकिन नारा लंबा चौड़ा देंगे कि हम बेगूसराय को चमका देंगे | सिर्फ गिने चुने मोहल्ले को चमका देने से बेगूसराय नहीं चमक जाएगा | इस सड़क के बदहाली कि चर्चा कई समाचार पत्रों में  किया गया है लेकिन आज तक किसी जनप्रतिनिधि या पदाधिकारी के कान पर जूँ तक नहीं रेंगा | इसी जमे पानी और विषैले कीड़े के बीचोबीच दो-तीन  निजी स्कूल के बच्चे रोज गुजरकर स्कूल जाते हैं | ये बच्चे कुछ दिन जाते हैं फिर बीमार पड़ते हैं दवा लेते हैं  फिर लाचार होकर आने जाने कि प्रक्रिया जारी रखते हैं|

इस मोहल्ले के सभी लोगो ने समाचारएक्सप्रेस के संवाददाता को कहा कि अगर इस बार भी  सड़क नहीं बना तो हमलोग चुनाव का बहिष्कार करेंगे | इसी मोहल्ले के निवासी गिरीश चन्द्र प्रसाद ने कहा कि अब यह सड़क नहीं बन पाएगा क्योकि तीसरा सत्र गुजरने को है , लगता है कि नगर निगम को सांप छू लिया है क्या ? मिथलेश गाँधी ,पवन पोद्दार , संतोष पोद्दार , राजकुमारी देवी , उमेश ठाकुर , यदुनंदन यादव , राजकुमार मंडल और अशोक सिंह ने कहा कि अब कोई भी प्रतिनिधि वोट मांगने आए तो उसे तुरत बेरंग लौटा देना है और खड़ी-खोटी सुनाना है | बी.डी पब्लिक स्कूल के डायरेक्टर धनंजय कुमार झा ने कहा कि हमने तो कई बार वार्ड पार्षद और मेयर को फोन से और जाकर भी कहा सुरेन्द्र मेहता और पूर्व मेयर संजय सिंह को बुलाकर दिखाया लेकिन सबों ने आश्वासन के पूल बाँध कर चले गए | अब तो इस स्वच्छता के ढकोसला बाजी से घृणा हो गया है साथ ही साथ धरातल के जनप्रतिनिधि के झूठ से ऊब गए हैं  | कई लोग तो इस मोहल्ला से जमीन बेच कर दूसरे  जगह जाना ही उचित समझ रहे हैं | कुछ लोगों ने तो अपना मकान और कुछ ने अपना जमीन बेच भी डाला है ,बचे लोग लाचार हैं |

Leave a Reply