पहली बार एक हिन्दू शेरनी पकिस्तान में लड़ रही है चुनाव ,देगी हाफीज सईद के पार्टी को चुनौती

Biggest News, Breaking News, WORLD

इस्लामाबाद : पाकिस्तान के सिंध प्रांत से पहली बार एक हिन्दू महिला 25 जुलाई को होने वाले प्रांतीय असेंबली चुनाव में किस्मत आजमाएगी.मुस्लिम बहुल पाकिस्तान में पहली बार अल्पसंख्यक समुदाय की किसी महिला ने चुनाव लड़कर इतिहास रचा है.31 वर्षीय सुनीता परमार मेघवार समुदाय से आती हैं.

31 वर्षीय सुनीता परमार ने थारपरकर जिले में सिंध असेंबली निर्वाचन क्षेत्र पीएस-56 के लिए निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर नामांकन भरा है|

आपको बता दें कि पाकिस्तान में सबसे ज्यादा हिंदू इसी जिले सिंध असेंबली में रहते हैं.मौजूदा स्थिति को बनाए रखने को लेकर आत्मविश्वास से भरी परमार का कहना है कि उन्होंने चुनाव लड़ने का फैसला इसलिए किया क्योंकि पूर्व की सरकारें उनके निर्वाचन क्षेत्र के लोगों से किए गए वायदों को पूरा करने और उनका जीवन स्तर सुधारने में असफल रहीं.

सुनीता का मकसद क्षेत्र की समस्या सुलझाना है. उनका कहना है कि उनके इलाके में काफी दिक्कत है. महिलाओं को पानी के लिए कई कि‍मी दूर तक जाना होता है.

सुनीता ने हाफिज सईद को चुनौती दिया है कि अगर हाफिज जैसे आतंकवादी में दम है तो मुझे चुनाव में हराकर दिखाए |सुनीता ने हाफीज द्वारा भारत मेंहुए आत्याचार पर भी सवाल उठाई |

परमार ने कहा, ‘पिछली सरकारों ने इस इलाके के लिए कुछ भी नहीं किया. 21वीं शताब्दी में रहने के बावजूद महिलाओं के लिए मूल स्वास्थ्य सुविधाएं और शैक्षणिक संस्थान नहीं हैं.’परमार ने स्कूल खुलवाने का भी वायदा किया |



Leave a Reply